आम खाने के फायदें | Aam Ke Fayde | Mango in Hindi information


आम खाने के फायदें | Aam Ke Fayde | Mango in Hindi



Benefits of Mango in Hindi (Aam Ke Yayde – क्या आप जानते है कि आम खाने के क्या फायदें हैं? ) – आम को फलों का राजा कहा जाता हैं. “आम” का वैज्ञानिक नाम “मेंगीफेरा इंडिका” है. आम की मूल प्रजाति को भारतीय आम कहते हैं. आम को भारत, पाकिस्तान, फिलीपींस में राष्ट्रीय फल का दर्जा दिया गया है. आम के पेड़ को बांग्लादेश में राष्ट्रीय पेड़ का दर्जा प्राप्त है.
आम खाने के फायदें | Health Benefits of Eating Mango in Hindi
आम में विटामिन A, विटामिन B-6, विटामिन C, फाइबर, पोटेशियम, मैग्निशियम, कॉपरऔर अन्य कई पोषक तत्व पायें जाते हैं जो आपकी त्वचा और बालों के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं.
आम में एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट में फ्री रेडिकल्सको निष्क्रय करने की क्षमता होती है जिसके कारण हृदय सम्बन्धी बीमारी, समय से पहले बुढ़ापा और कैंसर से बचाव होता हैं.
आम में पायें जाने वाले पोषक तत्व अपच, पेट की गैस आदि समस्याओं से निजात दिलाने में मदत करता है. आम भोजन पचाने में सहायक होता हैं.
आम का नियमित सेवन करने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ जाती है. एनीमिया जैसी बीमारी दूर रहती हैं.
आम में प्रचुर मात्रा में आयरन भी पाया जाता हैं. गर्भवती महिलाओं को आयरन की जरूरत काफी होती हैं.
विटामिन बी-6 आम में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो मानसिक रूप से स्वस्थ और मजबूत बनाता है.
कच्चे आम को खाने या उबाल कर खाने से लूलगने का भय नहीं रहता है. गाँव में अक्सर लोग कच्चा आम और कच्चे आम को उबालकरखाते हैं.
आम खाने के नुकसान | Disadvantages of Eating Mango in Hindi
150 ग्राम आम में लगभग 85 कैलोरी ऊर्जाहोती है. आम में स्टार्च पाया जाता है जो वजन को बढ़ा देता है. मोटे लोगों को आम कम खाना चाहिए.
कई बार आम का सेवन करने से चेहरे पर मुँहासे निकल जाते हैं.
जुलाई से आम में कीड़े पड़ने लगते है इसलिए जुलाई के महीने में आम खाने से पहले उसे अच्छी तरह देख ले. इस महीने में आम खाने से शरीर में खुजलाहट होती है.
आम के बारें में रोचक तथ्य | Interesting Facts about Mango in Hindi
पूरे विश्व में आम का सबसे अधिक उत्पादन भारत में होता हैं. पूरी दुनिया में आम उत्पादन में भारत का 55% योगदान है.
भारत में आम की लगभग 1000 (एक हजार) किस्में उगाई जाती है.
बिहार के दरभंगा में एक लाख से भी ज्यादा आम के पेड़ो का बाग़ है इसे “लाखी बाग़” कहते है.
पके आम खाने के सिवाय, आम का अचार, चटनी, सिकंजी, चूर्ण आदि रूपों में प्रयोग किया जाता है.
आम की लकड़ी और पत्ते को धार्मिक कर्म कांडो में प्रयोग किया जाता हैं. इन्हें पवित्र माना जाता है.

Comments

Popular posts from this blog

Corona Virus Live Updates : चीन में अब तक 2700 से ज्यादा की मौत

Andhiyon Ko Zid Hai Jahan Bijli Girane Ki!!